Main Menu
जनगणना आयुक्त का संदेश
जनगणना निदेशालय के बारे में
ऐतिहासिक पृष्ठभूमि
संकल्पनाएं एवं परिभाषाएं
कर्त्तव्य
मकान अनुसूची - प्रथम चरण
अधिनियम एवं नियम
महत्त्वपूर्ण वेबलिंक्स
ऑडियो/ विडियो गेलेरी
निविदाएँ
सूचना का अधिकार
Download
Administrative and Housing Atlas of MP-2011
PCA Data Highlights of MP - 2011
Analytical Report on Houses, Household Amenities and Assets
Provisional Population Totals Of MP Paper 2 - Series 24
Provisional Population Total Of MP (Rural & Urban Distribution)
Data Gallery
Census - 2011 Provisional Figures (MP)
Provisional Population Totals Of MP Paper 1- Series 24
Geographical Code Directory
मुख पृष्ठ > अधिनियम एवं नियम
कानूनी प्रावधान : सम्बन्धित अधिनियम एवं नियम
जनसंख्या की गणना
जनगणना अधिनियम, १९४८
एवं
जनगणना नियम, १९९०


राष्ट्रीय जन संख्या रजिस्टर
नागरिकता अधिनियम, १९५५
एवं
नागरिकता नियम, २००३

कानूनी प्रावधान: जनगणना अधिनियम, १९४८
अधिनियम की धारा ४ के अंतर्गत सभी जनगणना अधिकारीयों की नियुक्ति की जाती है : हम सभी उक्त धारा के अधीन कार्यरत रहेंगे |
जनगणना अधिकारियों/ कर्मचारियों के दायित्व
- कर्तव्यों के निर्वहन करने से मना नहीं किया जा सकता |
- किसी अन्य व्यक्ति द्वारा ऐसे कर्तव्यों के निर्वहन में बाधा नहीं डाली जा सकती |
- आपत्ति जनक अथवा अनउपयक्त प्रश्नों को नहीं पूछा जा सकता |
- जानबूझ कर गलत उत्तर नहीं दिया जा सकता |
- जनगणना में प्राप्त कोई ऐसी जानकारी प्रकट नहीं कर सकता |
दण्ड :
ऐसी स्तिथि में जुर्माने से, जो एक हज़ार रुपये तक हो सकता है या दोष सिद्धि की दशा में कारावास से भी, जो तीन वर्ष का हो सकता है, दण्डनीय  होगा | (अधिनियम की धारा ११)
प्रगणक एवं पर्यवेक्षकों को जनगणना अधिनियम १९४८ के तहत दिए गए अधिकार
जनगणना कार्य हेतु :
- किसी मकान, अहाते, या अन्य स्थान में प्रवेश करने की अनुज्ञा (धारा ९)
- किसी भी भवन/जनगणना मकान में नंबर लिखना/डालने की अनुज्ञा (धारा ९)
- जनगणना अनुसूची में में मुद्रित प्रश्नों को पूछने की अनुज्ञा (धारा ८(१))
- उत्तर दाता से उत्तर प्राप्त करने की अनुज्ञा (धारा ८(२))
जनगणना अधिनियम, १९४८: अन्य प्रावधान
अधिनियम की धारा १५-ए
इस अधिनियम के अंतर्गत किसी भी जनगणना कर्मी द्वारा किया गया कर्त्तव्य निर्वहन किसी भी प्रकार से उसकी मूल सेवा में उसकी पदोन्नति या अभिवृद्धि के अधिकार को प्रभावित नहीं करेगा |
जनगणना कार्य के दौरान जनगणना कर्मी को "कर्त्तव्य/कार्य पर" माना जायेगा |

अधिनियम की धारा १५-बी
इस अधिनियम के अंतर्गत सदभाव पूर्वक की गई या की जाने वाली किसी भी कार्यवाही के लिए जनगणना कर्मी के विरूद्ध कोई वाद, अभियोजन या कोई अन्य कानूनी कार्यवाही नहीं की जाएगी |
जनगणना अधिनियम, १९४८:  जनता के कर्तव्य(अधिनियम की धारा ८/९)
- जनगणना अधिकारी को घर में प्रवेश करने की अनुज्ञा
- किसी भी भवन में अक्षरों, चिन्हों या संख्यकों को लिखने/अंकित करने देने की अनुज्ञा
- उसकी सही जानकारी एवं विशवास के अनुसार सही उत्तर देना 
उल्लंघन  करने की सज़ा
१०००/- रुपये का अर्थ दण्ड (अधिनियम की धारा ११)
कानूनी प्रावधान : जनगणना अधिनियम, १९४८(जारी...)
जनगणना अभिलेख की गोपनीयता
(अधिनियम की धारा १५)

जनगणना अभिलेख
जनगणना के अभिलेखों का निरीक्षण नहीं किया जा सकेगा और न ही वे साक्ष्य में ग्राह्य होंगे
अन्य सम्बन्धित धारायें
बच्चों के लिए नि:शुल्क तथा अनिवार्य प्राथमिक शिक्षा अधिनियम २००९ के अधिकार धारा २७ :-

" कोई भी शिक्षक दशकीय जनसंख्या जनगणना, आपदा राहत ड्यूटी अथवा स्थानीय प्राधिकरणों या राज्य विधानसभाओं अथवा संसद के चुनाव से  सम्बन्धित ड्यूटियों, जैसे भी मामला हो को छोड़कर किसी  अन्य गैर शिक्षण कार्य के लिए तैनात नहीं किया जायेगा "
 
© 2011 Census Madhya Pradesh. Terms & Condition  |  Disclaimer  |  Contact us Last Updated on : 06/03/2012
This site is designed & developed by CRISP. Best viewed in IE 6.0 and above with monitor resolution 1024x768